hfgk1 6 gap

अपील

यह डेटाबेस हर मंदिर सिंह 'हमराज़' (कानपुर, भारत) द्वारा संकलित और प्रकाशित हिंदी फ़िल्म गीत कोश श्रृंखला (1931-1985) पर आधारित है। जून 1972 में पहली घोषणा से ले कर, उन्होंने एक सामुदायिक परियोजना के रूप में इसकी कल्पना की थी। हर एक पुस्तक में, उन्होंने सैकड़ों समान विचारधारा वाले लोगों की मदद और दयालुता को स्वीकार किया है, चाहे वे फ़िल्म  उद्योग में हैं या अतिरिक्त, इनके बिना यह संकलन संभव हो ही नहीं सकता था।

'हमराज़' और उसके हितचिंतकों के बेहतरीन प्रयासों के बावजूद, हमारे फिल्मों के ज्ञान में अभी भी बहुत सी कमियाँ हैं, विशेष रूप से 1931-1950 की अवधि में। हम हिंदी फिल्मों और संगीत के सभी प्रेमियों से आग्रह करते हैं कि हमारी संस्कृति के इस हिस्से को खो जाने से पहले इसे पूरा  करने में मदद करें। इस सामूहिक परियोजना में सभी की सहायता के हम प्रार्थी हैं।

====================================================

दोस्तों के साथ हमारी बातचीत के दौरान, हमें इस परियोजना के बारे में कई सवाल पूछे गए हैं। हमें उम्मीद है, निम्नलिखित उत्तर सभी के लिए उपयोगी हैं। यदि आपके पास इनके अतिरिक्त प्रश्न हैं, तो कृपया संकोच न करें साइट मास्टर से संपर्क करें।

गीत कोश के मुद्रित पुराने संस्करणों का क्या होगा?

1931 से 1985 तक छपे हुए सभी 6 खंड, हमेशा की तरह मिलते रहेंगे। भाग 3 (1951-60) को छोड़ कर, जो मूल में उपलब्ध है, शेष संस्करणों को डिजिटल छपाई के माध्यम से उपलब्ध कराया जा रहा है। कृपया साइट मास्टर से संपर्क करें इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए।

अतिरिक्त जानकारी के आधार पर नए संस्करणों को क्या पुस्तकों के रूप में छापा जाएगा?

अभी तो संशोधित और अद्यतन डेटा को वेब पर डालने के लिए तैयार किया जा रहा है। जब यह प्रक्रिया समाप्त हो जायेगी, तो सभी संस्करणों के संशोधित हिंदी और अंग्रेजी संस्करणों को मानक गीत कोश प्रारूप में एक-एक करके उपलब्ध कराया जाएगा। इसमें देरी हो सकती है क्योंकि डेटा का प्रारूपण एक अत्यधिक समय लेने वाली मुहिम है।

इस परियोजना के पीछे कौन है?

इस प्रयत्न का नेतृत्व हर मंदिर सिंह 'हमराज़' (संकलक / भारत) और डॉ सुरजीत सिंह (प्रस्तोता / यूएसए) कर रहे हैं। कृपया उन लोगों की सूची देखें जिन्होंने 70 के दशक से ले कर अब तक संकलक की मदद की है, आभार

क्या यह आपके द्वारा गीत कोश के मुद्रित संस्करणों से एक डेटाबेस बनाने का पहला प्रयास है?

इस ड्रीम प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए पहले भी कई प्रयास किए गए थे। यह लगभग 3 दशकों की लंबी कहानी है। यदि आपको रुचि है, आप कहानी पढ़ने के लिए यहां क्लिक कर सकते हैं कम्प्यूटरीकरण, जो बहुत सारे खट्टे मीठे अनुभवों से भरा है।

परियोजना के लिए पैसे कहाँ से आ रहे हैं?

इस परियोजना और उसकी वेबसाइट के निर्माण और रखरखाव के लिए केवल हम अपने पैसे लगा रहे हैं, पर एक उल्लेखनीय अपवाद है। श्री नरसिंह डी अग्निश (कनाडा / यूएसए) गीत कोश संस्करणों को देखकर इतने खुश हुए, विशेष रूप से 1961 से 70 के अपने पसंदीदा भाग को देख कर, कि उन्होंने 'हमराज़' को $6,000 दिये और साथ में एक सरल और विनम्र अनुरोध किया कि इन पुस्तकों का जब भी संभव हो सके कम्प्यूटरीकरण किया जाए। वह समय अब ​​आ गया है!

परियोजना कब तक पूरी होगी?

यह एक कभी न समाप्त होनी वाली, सदा ही बढ़ते चली जाने वाली परियोजना है, जब भी कोई नई जानकारी उपलब्ध हो जाती है तो जोड़ी जाती है। यह काम इसी तरह चलता रहेगा, ऐसी हमारी आशा है, हालांकि, संशोधित और विस्तारित गीत कोष डेटा दर्ज करने की आधार परियोजना कुछ वर्षों से चल रही है और उम्मीद है कि कुछ और  वर्ष लगेंगे।

डेटाबेस में कौन से भाग डाले जाएंगे?

सभी छह (1931-1985)। डेटा प्रविष्टि और जाँच एक बहुत कड़ी मेहनत का काम है। अभी यह स्वयंसेवकों के एक छोटे से समूह द्वारा किया जा रहा है। सबसे पहले भाग III (1951-60) रखने की योजना है। उसके बाद दूसरे भी आएँगे, शायद क्रम में, V, IV, II, I और VI

क्या मैं डेटाबेस प्रविष्टि और जाँच या सॉफ्टवेयर में मदद कर सकता हूँ?

हम इस सामुदायिक परियोजना में सभी स्वयंसेवकों का स्वागत करते हैं। कृपया संपर्क करें साइट मास्टर से संपर्क

क्या कोई भी गीत कोश में सुधार या अतिरिक्त जानकारी डाल सकता है?

वेबसाइट का कोई भी उपयोगकर्ता इस फ़ॉर्म का उपयोग करके टिप्पणियों, सुधारों, नई जानकारी आदि को प्रस्तुत कर सकता है [साइट मास्टर से संपर्क करें]। कृपया कोई केवल अनुमान से या स्मृति पर आधारित जानकारी न दें! हम जानकारी या संशोधन की प्रामाणिकता का मूल्यांकन करने के बाद, भेजने वाले को उचित समय में परिणाम के बारे में सूचित करेंगे। यदि इसे डेटाबेस में शामिल किया जाता है, तो आपका नाम और शहर सूची में जोड़ दिया जाएगा। दुर्भाग्यवश हम पैसे देने में असमर्थ हैं।

उपलब्ध मुद्रित संस्करणों के अलावा, डेटाबेस में क्या नई जानकारी जोड़ी जा रही है?

हमने अपनी सपनों की सूची को दो भागों में विभाजित किया है। इंटरनेट पर डेटाबेस डालने से पहले सूची ‘ए’ में लिखे कामों को किया जाएगा। सूची ए हमें अंततः और भी बहुत कुछ डेटा शामिल करने की उम्मीद है। सूची बी हम सूची ‘बी’ में और भी बातों का सुझाव देने के लिए उपयोगकर्ताओं का सहयोग चाहते हैं।

क्या इस वेबसाइट पर फिल्में या गाने हैं?

नहीं, न तो अभी हैं और न ही भविष्य में होंगे। हम इंटरनेट पर फिल्मों या गानों से लिंक भी नहीं करेंगे। कृपया अपने पसंदीदा खोज इंजन का उपयोग करें और इंटरनेट पर देखें या सुनें।

आपने 78 आरपीएम ग्रामोफोन रिकॉर्ड और अन्य मीडिया की जानकारी क्यों शामिल की है?

इसके कई कारण हैं। एक तो हमारे सांस्कृतिक इतिहास का एक हिस्सा हैं और इसलिए हमें इसके विवरणों को संरक्षित करना चाहिए। दूसरे, बहुत से लोग अभी भी इन रिकॉर्डों को सुनना और उन्हें इकट्ठा करना पसंद करते हैं। तीसरे, चूंकि प्रारंभिक युग से बहुत कम फिल्में उपलब्ध हैं, इसलिए 78 आरपीएम रिकॉर्ड खोजना फिल्मी गीतों के बारे में प्रामाणिक जानकारी प्राप्त करने का एकमात्र तरीका है। वही सब बातें अन्य मीडिया के लिए कुछ हद तक कही जा सकती हैं।

यदि कुछ फ़िल्में या गाने उपलब्ध नहीं हैं, तो आपने उनके बारे में जानकारी क्यों शामिल की?

छह भागों के मूल संकलनों को सभी सर्टिफ़िकेट वाली हिंदी फिल्मों के पूर्ण गीत कोश या गीत विश्वकोश के रूप में योजनाबद्ध किया गया था। हम उस व्यापक दृष्टिकोण को बदलने का कोई कारण नहीं समझते हैं।

आपकी साइट इंटरनेट की दूसरी वेबसाइटों से अलग कैसे है?

जिस किसी ने भी अपेक्षाकृत दुर्लभ फिल्मों की प्रामाणिक जानकारी की तलाश की है, वह जानता है कि इंटरनेट बिल्कुल भी विश्वसनीय स्रोत नहीं है। यह भूल ग्रस्त ऑडियो, नकली वीडियो, साइटों से भरा है, जिन्हें कोई भी बिना किसी प्रमाण के बदल सकता है।

हिंदी फिल्मों और इसके गीतों से संबंधित सूचनाओं का पुस्तक रूपी संकलन, फिल्मों और उनके गानों के बारे में कोई प्रामाणिक जानकारी नहीं मिलने की हताशा के कारण ही 70 के दशक में बनाया गया था। इसलिए, फिल्मी गीतों के व्यापक विश्वकोश की आवश्यकता थी। हिंदी फिल्म गीत कोश संस्करणों का प्रकाशन उस जरूरत को पूरा करता है।

अब हमारे पास इंटरनेट पर जानकारी की प्रचुरता है, लेकिन यह बहुत ही भ्रामक है, फिर से सटीकता को गंभीरता से लेने वाले लोगों में निराशा पैदा करता है। यह वेबसाइट उस जरूरत को पूरा करती है।

हमें इस साइट और उस में दी गई जानकारी पर भरोसा क्यों करना चाहिए?

जो लोग नहीं जानते हैं, उनके लिए यह ध्यान देने योग्य है कि हर मंदिर सिंह 'हमराज़' द्वारा संकलित गीत कोश को गोल्ड स्टैंडर्ड (पारस पत्थर) के सामान माना जाता है, जिसके सामने अन्य सभी समान कार्यों को आंका जाता है। उनका काम हिंदी फिल्मों और गीतों पर किताबें, लेख और डॉक्टरेट शोध प्रबंध लिखने वाले लोगों के लिए मानक संदर्भ है। यहां एक छोटा सा नमूना देखा जा सकता है।  उद्धरण

आपकी जानकारी के स्रोत क्या हैं?

मूल पुस्तकें सरकार द्वारा प्रकाशित राजपत्र, फिल्म बुकलेट, मूल रिकॉर्ड, रिकॉर्ड कंपनी कैटलॉग, निजी कलेक्टरों और राष्ट्रीय फिल्म अभिलेखागार, पुणे की सामग्री के साथ साथ, उपलब्ध पुस्तकों और पत्रिकाओं में प्रकाशित सेंसर जानकारी पर आधारित थीं। अब, और भी सामग्री हमें प्राप्त हुई है, जिसको शामिल किया है। हमें किसी भी इंटरनेट स्रोत पर कोई भरोसा नहीं है, इसलिए इंटरनेट से किसी भी जानकारी को शामिल नहीं किया गया।

गीत कोश संस्करणों की तरह, आपने वेबसाइट पर प्रस्तुति के लिए वैसा ही प्रारूप क्यों चुना?

जो लोग 1980 से गीत कोश संस्करणों का प्रयोग कर रहे हैं, वे इस प्रारूप से परिचित और सहज हैं। हमने इसे बदलने का कोई कारण नहीं देखा।

अंग्रेजी संस्करण के लिए, आपने फिल्म के नाम, गीत के शीर्षक आदि के लिए चालू स्पेलिंग का चयन क्यों नहीं किया?

संक्षेप उत्तर यह है कि अंग्रेजी खोजों में समानता होनी चाहिए, ताकि यदि आप Bhaarat वाक्यांश के साथ फिल्मों की तलाश में हैं, तो आप को Bharat वाली फ़िल्में ना मिलें।

एक ही नाम के कई अभिनेता और अन्य भी हैं। आपने इसके बारे में क्या किया है?

यह एक कठिन समस्या है। हम इस पर काम कर रहे हैं।

मैं साधारण खोजों में सक्षम हूं, लेकिन जटिल खोज करना कठिन लगता है। इसके लिए कोई मदद मिलेगी?

हमने अपने डेटाबेस को कैसे खोजा जाए, इसके बारे में एक विस्तृत ट्यूटोरियल तैयार किया है। उपयोग हेतु गाइड यदि आपको और सहायता चाहिए तो कृपया हमसे संपर्क करें। यदि आपको बहुत ही विशेष प्रकार की अत्यंत जटिल खोज की आवश्यकता है, तो भी हमसे संपर्क करें

एक अक्सर कई गायकों के बारे में पढ़ता है जिसमें 25,000 या अधिक गाने गाए जाते हैं। क्या उस तरह के बयानों का निर्णय हो सकेगा?

हमारी समझ के अनुसार किसी भी हिंदी फ़िल्म गायक ने कुल मिला कर इतने गाने नहीं गाए हैं। वास्तव में, यह गीत कोश संस्करणों की उपलब्धता के बाद ही पाया गया कि लता ने इतने गाने नहीं गाये, बल्कि आशा भोसले ने लता मंगेशकर की तुलना में अधिक गाने गाए थे, और इन दो बहनों ने सभी पुरुष गायकों को पीछे छोड़ दिया था!

इस डेटाबेस के साथ, आप 1931 से 1985 की हिंदी फिल्मों में अपने पसंदीदा गायकों की विस्तृत सूची तैयार कर सकेंगे। हम बाद में डेटाबेस के आधार पर कुछ आंकड़े रखने के बारे में विचार कर सकते हैं।

डेटाबेस के प्रारूप और प्रस्तुति पर मेरे कुछ सुझाव हैं, मुझे क्या करना चाहिए?

कृपया साइट मास्टर से संपर्क करें

मेरे पास और भी प्रश्न है जिनका उत्तर यहां नहीं है, मुझे क्या करना चाहिए?

कृपया साइट मास्टर से संपर्क करें